टीचर बनने के लिए 12वीं के बाद क्या करें

टीचर बनने के लिए 12वीं के बाद :-हेलो फ्रेंड्स स्वागत है आपका एक नए आर्टिकल में देखिए फ्रेंड्स हम अभी आपको इस आर्टिकल में बताएंगे जैसे ही 12th पास कर लेते हैं उसके बाद कौन-कौन से वह कोर्स है कौन-कौन से वह टेस्ट है कौन-कौन से वह प्रशिक्षण है जिसको करने से आप एक अनुभवी शिक्षक के पद प्राप्त कर सकते हैं या सीधे भाषा में कहिए तो आप एक टीचर का पद कैसे प्राप्त कर सकते हैं उसमें कौन-कौन सी डिग्रियां होती है

जिसे आदमी उस डिग्री को प्राप्त करके और वह अपना जॉब हासिल कर सकता है चलिए तो अभी मैं आपको बताता हूं कौन-कौन से वह Course है जिसे करने से आप एक सफल टीचर बन सकते हैं तो आइए टाइम को ना वेस्ट करते हुए शुरू करते हैं

Table of Contents

टीचर बनने के लिए 12वीं के बाद

टीचर बनने के लिए 12वीं के बाद :- स्नातक (Graduation) की डिग्री पूरी करें

देखिए फ्रेंड्स तब अब हम लोग 12th पास कर चुके हैं उसके बाद हमको टीचर बनना है उसके लिए सबसे पहले हमको ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी करनी होगी उसके बाद जो आगे की कोर्स है अगले श्रेणियां की जो Course है उसमें एडमिशन हो पाती है तो पहले तो ग्रेजुएशन मात्र 3 साल का कोर्स था अभी 2023 से और 4 साल का कोर्स कर दिया गया है

ग्रेजुएट जिससे स्टूडेंट लोग को काफी परेशानी होगी पूरे टीचर की जितने भी एलिजिबिलिटी है पूरा को पूरा करने में लगभग 12वीं के बाद भी स्टूडेंट को 5 से 7 साल लग जाएंगे उन लोगों को पूरा यह सिर्फ प्राथमिक स्कूल का टीचर बनने के लिए इतना पढ़ाई करना होगा कि उन लोगों को 5 से 7 वर्ष लग जाएंगे यह कोर्स पूरा करने में तो ग्रेजुएशन की जो पढ़ाई है यह तो हर हाल में करना ही करना है उसके बाद ही आप टीचर बनने का सपना देख सकते हैं या अपने उद्देश्य में लिख के उसके लिए आप तैयारी कर सकते हैं

तो देखिए फ्रेंड्स क्या है की ग्रेजुएशन सबसे अनिवार्य है उसके बाद ही आप आगे पढ़ाई कर सकते हैं ग्रेजुएशन कर लेने के बाद आप आगे की जो course से उसमें आप एडमिशन लीजिए फिर उसको पूरा कीजिए चलिए फ्रेंड्स तो फिर चलते हैं आगले Course के बारे में लिखने और आप मेरे साथ बने रहिए

टीचर बनने के लिए 12वीं के बाद :- B.Ed. प्रोग्राम में प्रवेश प्राप्त करें

फ्रेंड्स बात करते हैं B.Ed के बारे में आप ग्रैजुएशन पास कर चुके हैं आपको टीचर बनना है इसके लिए आपको B.Ed करना अनिवार्य है यह परीक्षा भारत सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त परीक्षा है इसका वैल्यू सभी स्टेट में एक समान है किसी में कोई अंतर नहीं है इसका सबसे पहले विषय सिलेक्ट किया जाता है फिर ग्रेजुएशन किस सब्जेक्ट से हुआ है इस सब्जेक्ट के अनुसार आप अपना सब्जेक्ट चयन करते हैं उसके बाद आपको एक date मिलता है Entrance एग्जाम का उसके बाद आपको इसमें एडमिशन होता है

फिर आपका पढ़ाई के प्रक्रिया चालू होता है यह कोर्स 2 वर्ष का होता है और इसमें एडमिशन लेने के लिए आपको ग्रेजुएशन में काम से कम 50% अंक लाना अनिवार्य है उससे कम आपका नंबर है तो इसमें आपका एडमिशन नहीं हो पाएगा और इसका उद्देश्य ये है कि साक्षरता प्रमाण पत्र जो की एक शिक्षक के पास होना चाहिए और शिक्षक में अनुभव भी होना चाहिए जो शिक्षक के पास होता है यह अनुभव अच्छा जानकारी और अच्छी किताब की पढ़ने की और याद करने की क्षमता से होता है उसके ट्रेनिंग में यह बताया जाता है कि बच्चों को कैसे कंसलटेंट करना है कैसे पढ़ना है उन लोगों को कैसे हैंडल करना है

तो अब इस सभी बातों को ध्यान में रखते हुए सब को जैसे ही आदमी पढ़ लिखकर परीक्षा को उत्तीर्ण होता है उसको अनुभव हो जाता है कि हमको बच्चे को ऐसे पढ़ना पड़ेगा तब वह मेरे बात को समझ पाएंगे आप इंडिया देश के किसी भी स्टेट का शिक्षक का भर्ती हो आप B.a और B.Ed कंप्लीट कर लेते हैं तो आप उसे भर्ती में आवेदन कर सकते हैं

उसमें आपका परिणाम क्या आता है आपकी जानकारी के ऊपर डिपेंड करता है लेकिन आप उसके आवेदन करने के लिए एलिजिबल हो जाएंगे चलिए फ्रेंड्स फिर चलते हैं अगले course की तरफ तब तक आप मेरे साथ बने रहिए

टीचर बनने के लिए 12वीं के बाद :- D.Ed (Diploma in Education) प्रोग्राम में प्रवेश प्राप्त करें

फ्रेंड्स बात करते हैं D.Ed के बारे में Diploma in Education फ्रेंड्स इसमें होता क्या है कि इसमें एडमिशन के लिए या इस डिग्री को करने के लिए आपको ग्रेजुएशन करने की जरूरत नहीं पड़ती है आप अगर सिर्फ 10+2 पास है यानी की टीचर बनने के लिए 12वीं के बाद आप इसमें एडमिशन करा कर D.Ed कर सकते हैं तो इस Course को लेकर आप कौन से शिक्षक का बन सकते हैं आपको पता है D.Ed करने के बाद आप सिर्फ प्राथमिक शिक्षक बन सकते हैं

टीचर बनने के लिए 12वीं के बाद ये पढाई करें

यानी की 5 क्लास तक के बच्चे को पढ़ाने वाले शिक्षक बनेंगे आप पांचवा क्लास तक के टीचर बनने के एलिजिबल हो जाएंगे आप इस कोर्स को कर लेते हैं तब देखिए इसमें होता क्या है यह कोर्स 2 साल का होता है और इसमें कुछ एडमिशन की एलिजिबिलिटी बताया गया है जो की जनरल कैटेगरी के लिए 50% अंक है नंबर इंटरमीडिएट में और अति पिछड़ा के लिए 47.50% नंबर चाहिए इस में एडमिशन के लिए तभी इस में एडमिशन कर पाएंगे

और इस कोर्स को कर पाएंगे इसमें प्रैक्टिकल भी होता है और इसमें CTET और BTET जैसा इसमें पढ़ने में उतना परेशानी नहीं होती ज्यादा अधिक पढ़ना नही पड़ता है इसमें कुछ कम पढ़ना पड़ता है इसमें बहुत ही आसानी से बच्चे इसके एग्जाम को पास कर लेते हैं इसलिए फ्रेंड्स इसको करके आप 5TH क्लास के बच्चे की आप शिक्षक बन सकते हैं यानी कि प्राथमिक स्कूल का टीचर बन सकते हैं

टीचर बनने के लिए 12वीं के बाद :- Eligibility Test of Teacher

देखिए फ्रेंड्स अभी हम बात करने वाले हैं Eligibility Test of Teacher एक ऐसा टेस्ट होता है टीचर ट्रेनिंग होता है ट्रेनिंग टेस्ट जिसमें शिक्षक को यह सिखाया जाता है कि आप टीचर बनने के लायक है या नहीं है आपको टीचर बनने का हक कैसे मिलेगा आप टीचर कैसे हैं आप में quality कौन सा है जिससे आप अपने आपको टीचर मानते हैं आपको quality दिखाना पड़ेगा उस ट्रेनिंग में सब सिखाया जाता है

कि आप कैसे शिक्षा को बच्चे के पास भेजेंगे शिक्षक का अनुभव कैसे अपके अंदर विकसित होगा उस ट्रेनिंग में समझाया जाता है और यह बताया जाता है कि कैसे-कैसे आप शिक्षक श्रेणी में आगे बढ़ेंगे और अपने स्कूल के बच्चे को विकसित करने में उनका सहयोग करेंगे इसलिए फ्रेंड्स आपसे नम्र निवेदन है कि आप टीचर ट्रेनिंग कर लेते हैं तब इसका भी वैकेंसी हर स्टेट में आता है और जैसे इसका वैकेंसी आता है उसका आवेदन आप करके इसका लाभ आप उठा सकते हैं

इसका बहुत जल्द लाभ मिलता है क्योंकि टीचर ट्रेनिंग बहुत कम लोग करते हैं इसका Course ज्यादा दिन का होता भी नहीं है यह मात्र 6 महीना का होता है 6 महीना का टीचर ट्रेनिंग होता है और एग्जाम होता है इसके सर्टिफिकेट मिल जाता है उसमें भी परसेंटेज होते हैं जो की बिहार शिक्षक भर्ती के लिए बहुत ही अनिवार्य ट्रेनिंग पात्रता होती है उसका बहुत ही अच्छा मान्यता प्राप्त है बिहार शिक्षक भर्ती परीक्षा में इसका भी बहुत योगदान रहता हैं

टीचर बनने के लिए 12वीं के बाद :- बिहार केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (Bihar Central Teacher Eligibility Test – CTET)

देखिए फ्रेंड्स अब हम बात करने वाले हैं CTET के बारे में बिहार केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा इसको Short Name बोलते हैं CTET जो कि बिहार सरकार की बहुत ही महत्वपूर्ण परीक्षा है इस परीक्षा को इसलिए कराया जाता है क्योंकि बिहार के जो भी शिक्षक हैं उनको अच्छा अनुभव हो अच्छी उनकी पढ़ाई हो तभी तो स्टूडेंट को अच्छे शिक्षा दे पाएंगे अच्छा अनुभव दे पाएंगे इसीलिए बिहार सरकार द्वारा CTET और BTET दोनों का प्रशिक्षण पहले ही कराया जाता है

तो अभी मैं सीटेट के बारे में हम बात कर रहा हूं BTET की बात इसके बाद हम लोग करने वाले हैं देखिए तो इसमें दो पेपर होता है पेपर (1) और पेपर (2) इसमें क्या है कि पेपर (1) का मतलब यह होता है कि आप पेपर (1) का परीक्षा पास करते हैं तो आपको एक क्लास से लेकर 5 क्लास तक के शिक्षक बन पाएंगे

और पेपर (2) का परीक्षा पास करते हैं तो आप 6 क्लास से 8 क्लास तक के शिक्षक बन पाएंगे और आप पेपर (2) का परीक्षा पास कर लेते हैं तो दोनों के लिए एलिजिबल हो जाएंगे आप दोनों के लिए आवेदन कर सकते हैं तो इस तरह आप दोनों परीक्षा का जो पेपर है पेपर (1) और पेपर (2)उसका परीक्षा देकर आप बिहार शिक्षक भर्ती के वैकेंसी को फॉर्म भरने के लिए एलिजिबल हो जाएंगे

और इस CTET का उद्देश्य है कि अधिक से अधिक जानकार व्यक्ति बिहार का शिक्षक बने अधिक से अधिक अनुभव व्यक्ति शिक्षक पद को ग्रहण करें ताकि आने वाले भविष्य में भी बच्चे जो स्टूडेंट स्कूल में जाकर पढ़ाई करते हैं उनको अच्छा अनुभव मिले और अच्छी शिक्षा के कारण अपने भविष्य में उज्जवल भविष्य की कामना करें और अच्छे-अच्छे काम करें जिससे स्टेट का नाम रोशन हो और अपने स्कूल का नाम रोशन हो और अपने फ्यूचर में टीचर बनने के लिए 12वीं के बाद अच्छा मुकाम असली करें

टीचर बनने के लिए 12वीं के बाद :- बिहार शिक्षक पात्रता परीक्षा (Bihar Teacher Eligibility Test – BTET)

देखिए फ्रेंड्स अब हम बात करने वाले हैं BTET के बारे में बिहार शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी कि BTET जो कि बिहार सरकार की बहुत ही महत्वपूर्ण परीक्षा है यह महत्वपूर्ण परीक्षा इसलिए है क्योंकि इसके पात्रता के बिना बिहार स्टेट में आपको टीचर बनने का अवसर नहीं मिलता है इसको करना सबसे जरूरी होता है

इसमें भी दो भागों में परीक्षा का भाग बांट दिया गया है पहले होता है पेपर (1) और दूसरा होता है पेपर (2) दोनों का मतलब क्या होता है यह जान लीजिए पेपर (1) का मतलब होता है कि जो स्टूडेंट 1th क्लास से लेकर सिर्फ 5th क्लास तक पढ़ना चाहते हैं वह पेपर (1) के लिए आवेदन करेंगे और जो 10th से लेकर 12thतक का शिक्षक बनना चाहते हैं यानी 10+2 वह पेपर ( 2) का आवेदन करना होता है

और सभी किसके लिए परीक्षा का पैटर्न अलग-अलग होता है उनके जो प्रश्न होते हैं उनके पहले लिए गए विषय के अनुसार सेलेक्ट किए जाते हैं उसके बाद परीक्षा की Date निकाली जाती है Exam होता है उसके बाद टीचर बनने के लिए 12वीं के बाद इन लोगों को एक बिहार शिक्षक पात्रता परीक्षा की सर्टिफिकेट मिलता है

जो बिहार सरकार द्वारा शिक्षा का भर्ती निकलता है उसमें सर्टिफिकेट को साथ में लगाकर आवेदन करना होता है फिर उसका एग्जाम पास करते हैं फिर एक सफल टीचर बन पाते हैं सब कोई नहीं बन पाते हैं सब किसी का अपना-अपना जानकारी के अनुसार रिजल्ट मिलता है इसलिए फ्रेंड्स तो फिर चलते हैं दूसरे कोर्स की तरफ तब तक आप मेरे साथ बने रहिए

निष्कर्ष

देखिए फ्रेंड्स हमने आप सभी को इस आर्टिकल में टीचर बनने के लिए 12वीं के बाद पढ़ने के लिए कौन-कौन से कोर्स है जिससे आप एक सफल टीचर बनने के लिए 12वीं के बाद ये पढाई करके बन सकते हैं उसकी व्याख्या मैं इस आर्टिकल में किया है मुझे आशा है कि आप सभी को पसंद आया होगा और उपयोगी साबित हुई होगी और आपको ये आर्टिकल्स कैसा लगा कमेंट बॉक्स में यह मुझे जरूर बताइए धन्यवाद

12वीं के बाद टीचर के लिए कौन सा कोर्स सबसे अच्छा है?

टीचर बनने के लिए 12वीं के बाद टीचर के लिए सबसे अच्छा कोर्स B.Ed D.Ed और इंटीग्रेटेड इसके अलावा भी और भी कोर्स है CTET BTET है इसके अलावा दूसरा कोई इससे अच्छा कोर्स नहीं होगा मेरे जानकारी से चलिए तो अधिक जानकारी के लिए मेरे आर्टिकल पर जाए


शिक्षक बनने के लिए कौन सी डिग्री चाहिए?

D.ED (डिप्लोमा इन एजुकेशन )आप सीधे शिक्षक बनने के लिए D.Ed कर सकते हैं ऐसा कोई भी डिग्री नहीं है जो मात्र 2 साल में आपको शिक्षक बनने के लिए एलिजिबल कर सके सिर्फ D.ED है जो 2 साल में आपको शिक्षक भर्ती भरने के लिए आपकी योग्यता बन सकती है और इसमें एडमिशन के लिए आपको मात्र टीचर बनने के लिए 12वीं के बाद ये होना अनिवार्य है

बीएड कितने साल का होता है?

B.Ed करने के लिए पहले ग्रेजुएशन होना अनिवार्य है तो 3 साल ग्रैजुएशन और 2 साल B.Ed इसलिए टोटल समझे तो 5 वर्ष लगता है दोनो को पूरा करने में टीचर बनने के लिए 12वीं के बाद ये पढाई करें

टीचर बनने के लिए उम्र कितनी चाहिए?

बिहार में सामान्य कैटेगरी वाले स्टूडेंट को 18 वर्ष लेकर 40 वर्ष के बीच रखा गया है और अति पिछड़ा जनजाति वालों को उन लोगों को 40 वर्ष के बीच तक टीचर बनने के लायक रखा गया है टीचर बनने के लिए 12वीं के बाद ये पढाई करें


टीचर बनने के लिए कितने परसेंट चाहिए?

आपका दसवीं में 60% नंबर चाहिए और बारहवीं में भी 60% नंबर चाहिए और ग्रेजुएशन में आपका 50% नंबर हो कम से कम तब आप टीचर बनने के लायक है अगर उतना नहीं तब आप भी टीचर बनने के लायक नहीं है टीचर बनने के लिए 12वीं के बाद ये पढाई करें

sarkariresultspannel.com

3 thoughts on “टीचर बनने के लिए 12वीं के बाद क्या करें”

Leave a Comment